Thursday, November 17, 2011

काश हम भी



काश तेरे जीवन में हम भी,
खुशियों का एक ठिकाना होते।
होते तेरे राजदार हम, तेरे
सपनों का एक फसाना होते॥

काश तेरे जीवन में हम भी,
हँसने का एक बहाना होते।
होते हर पल याद तुम्हें हम,
तेरे आँसू का एक ठिकाना होते॥

काश तेरी आँखों में हम ही,
बस एक उगते सितारे होते।
होते सब कुछ तेरे हम ही,
और मेरे जीवन, तुम होते॥

काश तेरे जीवन में हम भी,
बस एक पूरा जमाना होते।

Featured Post

मैं खता हूँ Main Khata Hun

मैं खता हूँ रात भर होता रहा हूँ   इस क्षितिज पर इक सुहागन बन धरा उतरी जो आँगन तोड़कर तारों से इस पर मैं दुआ बोता रहा हूँ ...